आज का वचन

11-11-2018

रोमियो 8:37
परन्तु इन सब बातों में हम उसके द्वारा जिस ने हम से प्रेम किया है, जयवन्त से भी बढ़कर हैं।

12-11-2018

रोमियो 8:38
क्योंकि मैं निश्चय जानता हूं, कि न मृत्यु, न जीवन, न स्वर्गदूत, न प्रधानताएं, न वर्तमान, न भविष्य, न सामर्थ, न ऊंचाई,

13-11-2018

रोमियो 8:39
न गहिराई और न कोई और सृष्टि, हमें परमेश्वर के प्रेम से, जो हमारे प्रभु मसीह यीशु में है, अलग कर सकेगी॥

14-11-2018

याकूब 1:6
पर विश्वास से मांगे, और कुछ सन्देह न करे; क्योंकि सन्देह करने वाला समुद्र की लहर के समान है जो हवा से बहती और उछलती है।

15-11-2018

याकूब 1:7
ऐसा मनुष्य यह न समझे, कि मुझे प्रभु से कुछ मिलेगा।

16-11-2018

याकूब 1:8
वह व्यक्ति दुचित्ता है, और अपनी सारी बातों में चंचल है॥

17-11-2018

रोमियो 10:17
सो विश्वास सुनने से, और सुनना मसीह के वचन से होता है।

%d bloggers like this: