Manmin Seminary(MIS)

Manmin Seminary(MIS) – मानमिन सेमीनेरी 

जो तेल तैयार कर चुके होंगे और जिनके दीपक उज्जवलता से चमक रहे होंगे वे हियाव के साथ प्रभु का स्वागत करेंगे

मानमिन सेमीनरी की स्थापना विश्वभर में पवित्रता के सुसमाचाार का प्रचार करने के लिए की गयी हैं और इसका आधार परमेश्वर का वचन है जो कहता है ” क्योंकि पृथ्वी यहोवा की महिमा के ज्ञान से ऐसी भर जाएगी जैसे समुद्र जल से भर जाता है। हबक्कूक 2:14″

मानमिन सेमीनेरी एक बहुत ही सामर्थी एवं प्रभावशाली बाइबल शिक्षा अधय्यन है जिसका गठन रेव्ह डा. जेराॅक ली के द्वारा लीखित पुस्तकों से किया गया है जिनमें परमेश्वर के गहरे आत्मिक प्रकाशन पाए जाते है जिन्हे रेव्ह जेराॅक ली ने असंख्य प्रार्थनओं और उपवासों के बाद परमेश्वर से प्राप्त किया।

अधय्यन का मुख्य उद्देश्य

  • परमेश्वर के सेवकों एव लीडर्स की मदद करना ताकि वे पाप के विरूध प्राण देने तक संघर्ष कर सकें।
  • परमेश्वर के सेवकों एव लीडर्स को प्रशिक्षित करना ताकि वे पवित्रआत्मा के सामर्थी कार्यों को प्रकट कर सकें।
  • परमेश्वर के सेवकों एव लीडर्स की अगुवाई करना ताकि उनकी कलीसियाओं में जागृति हो सकें।

पुस्तकों की सूची

संख्या पुस्तक का नाम लेखक Resource Questions/प्रशन
1 क्रूस का संदेश रेव्ह. जेराक ली Download Click Here
2 विश्वास का परिमण रेव्ह. जेराक ली
3 स्वर्ग रेव्ह. जेराक ली
4 आत्मिक प्रेम रेव्ह. जेराक ली
5 मेरा विश्वास मेरा जीवन रेव्ह. जेराक ली
6 पवित्रआत्मा के नौं फल रेव्ह. जेराक ली
7 पवित्रआत्मा की आवाज़ और अगुवाई रेव्ह. जेराक ली
8 आशीषें रेव्ह. जेराक ली
9 भलाई रेव्ह. जेराक ली
10 दस आज्ञाऐं रेव्ह. जेराक ली
11 नर्क रेव्ह. जेराक ली
12 विश्राम दिन एवं दशमांश और भेंटें। रेव्ह. जेराक ली